श्वसन या दमा (Asthma) एलर्जी क्या हैं? उसके लक्षण, कारण और उपचार

0
130

श्वसन या दमा (Asthma) एलर्जी क्या हैं? उसके लक्षण, कारण और उपचार एलर्जी एक ऐसी समस्या है जो व्यक्ति के श्वसन मार्ग में जानलेवा परिवर्तन कर सकती है। इसमें व्यक्ति के द्वारा सांस लेने में तकलीफ होती है और यह दिनभर में बढ़ता है। इस समस्या के कारण व्यक्ति को नाक बंद हो जाती है, सांस फूल जाती है और दमा की समस्या भी हो सकती है। इस समस्या का कारण व्यक्ति के श्वसन मार्ग में एलर्जी होना होता है। इसमें विभिन्न कारक शामिल होते हैं जैसे कि धूल, धुएं, वायु प्रदूषण, घास-पौधों के बुढ़ापे और कुछ खाद्य पदार्थ।

इस समस्या को कम करने के लिए कुछ उपाय होते हैं जैसे अपने घर के अंदर हवा को शुद्ध रखना, वायु प्रदूषण को कम करना और एलर्जी वाले खाद्य पदार्थों से दूर रहना। इसके अलावा विशेषज्ञों के परामर्श और उनके द्वारा दिए जाने वाले दवाइयों का भी उपयोग किया जा सकता है।

श्वसन एलर्जी के लक्षणों में छाती में दर्द, सांस लेने में तकलीफ, नाक बंद होना, खांसी और थकान शामिल होते हैं। इस समस्या को दूर करने के लिए विशेषज्ञों द्वारा नुस्खे और दवाइयों का उपयोग किया जाता है।

एलर्जी निवारक दवाएं, एंटीहिस्टामीन दवाएं, नैस दवाएं और इनहेलर या नेबुलाइजर के उपयोग से इस समस्या से निपटा जा सकता है। इनहेलर या नेबुलाइजर दवाओं के उपयोग से दवाओं का अधिक से अधिक खूँटी सीधे फेफड़ों तक पहुंचता है जो श्वसन के माध्यम से लक्षणों को कम करता है।

इस समस्या को शुरूआती अवस्था में ही नियंत्रित करना बहुत जरूरी है क्योंकि इससे दमा जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं। इसलिए अगर आपको श्वसन एलर्जी के लक्षण मिलते हैं तो आपको तुरंत चिकित्सा जाँच करानी चाहिए।

श्वसन एलर्जी से बचने के लिए आपको अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए अधिक पौष्टिक भोजन करना चाहिए। 

श्वसन एलर्जी कारण क्या हैं?

श्वसन एलर्जी का मुख्य कारण वातावरण में मौजूद धूल, धुएं, धुले, कीटाणु और अन्य अधिक छोटे धुंधले अणु होते हैं जो हमारी नाक और मुंह से श्वसन के दौरान हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं। इन विषाणुओं के प्रवेश से हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली उत्तेजित होती है और उत्तेजना की इस प्रक्रिया से श्वसन एलर्जी के लक्षण प्रकट होते हैं।

इसके अलावा, खाने की वस्तुओं, जैसे शेलफिश, मछली, अंडे और मूंगफली आदि के सेवन से भी श्वसन एलर्जी हो सकती है। अधिकतर लोगों को श्वसन एलर्जी बचपन में होती है, लेकिन यह किसी भी उम्र में हो सकती है।

अन्य कारणों में वायु प्रदूषण, सिगरेट धुम्रपान या उच्च तापमान जैसे जीवनशैली तथा अधिक शराब और सबसे अधिक अधिक मोटापा है। अगर आपको इन कारणों से संबंधित कोई लक्षण मिलते हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से जांच करवानी चाहिए।

श्वसन एलर्जी लक्षण क्या हैं?

श्वसन एलर्जी के लक्षण व्यक्ति के उम्र, संवेदनशीलता और एलर्जी के कारण के आधार पर भिन्न हो सकते हैं। लेकिन अधिकतर मामलों में इसके लक्षण निम्नलिखित होते हैं:

  • नाक से पानी बहना या नाक बंद हो जाना
  • छाती में तनाव या दमा की तरह का अनुभव
  • सांस लेने में तकलीफ या फूलते हुए सांस लेना
  • गले में खराश या खुजली का अनुभव
  • सांसों की आवाज फूलते हुए सुनाई देना
  • नाक में खुजली और बहुत ज्यादा छींकें आना
  • आँखों में खुजली या लालिमा का अनुभव

अधिकतर मामलों में यह लक्षण थोड़े समय के लिए होते हैं और अस्थायी होते हैं। लेकिन कुछ मामलों में यह लक्षण लंबे समय तक बना रहते हैं और इससे व्यक्ति को बहुत तकलीफ होती है। अगर आपको श्वसन एलर्जी के लक्षण हैं, तो आपको एक विशेषज्ञ चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।

श्वसन एलर्जी उपाय क्या हैं?

श्वसन एलर्जी के उपाय निम्नलिखित हो सकते हैं:

दवाइयां: श्वसन एलर्जी के उपचार के लिए विभिन्न दवाइयों का उपयोग किया जाता है, जैसे कि एंटीहिस्टामीन और नॉज़ैल स्प्रे। इन दवाओं का सेवन श्वसन एलर्जी के लक्षणों को कम करने में मदद करता है।

एलर्जी टेस्टिंग: एलर्जी टेस्टिंग से आपको उन चीजों के बारे में पता चलता है जिनसे आप एलर्जी हो सकते हैं। जब आपको इन चीजों से परहेज करना होता है, आप उनसे दूर रह सकते हैं और इससे आपको श्वसन एलर्जी से बचाने में मदद मिलती है।

श्वसन व्यायाम: श्वसन व्यायाम करने से श्वसन से जुड़े दमितियों को मजबूती मिलती है जो आपको श्वसन एलर्जी के लक्षणों से बचाता है।

घरेलू उपचार: श्वसन एलर्जी के उपचार के लिए कुछ घरेलू नुस्खे भी उपलब्ध होते हैं, जैसे कि अदरक का रस, शहद, नीम के पत्ते, शंखपुष्पी और हल्दी।

साफ सुथरा वातावरण: श्वसन एलर्जी से बचने के लिए साफ सुथरा वातावरण महत्वपूर्ण होता है। धूल, धुएं और प्रदूषण के वातावरण से बचने के लिए, एयर प्यूरीफायर और हवा की सफाई जैसे उपकरणों का उपयोग किया जा सकता है।

खाद्य पदार्थों में परहेज: कुछ खाद्य पदार्थ श्वसन एलर्जी को बढ़ावा देते हैं, जैसे कि मक्खन, तेल, फ्राइड फूड और नमक। इन चीजों से बचें और स्वस्थ खाद्य पदार्थ खाएं।

दुर्गंध वाले उत्पादों से परहेज करें: श्वसन एलर्जी में खासकर बार-बार झांकने वाली चीजें जैसे कि परफ्यूम, दोस्त, ब्राउन सुगर, कंडीशनर, हेयर स्प्रे आदि का उपयोग न करें।

डॉक्टर से परामर्श करें: अगर श्वसन एलर्जी के लक्षण अधिक गंभीर होते हैं या यह बार-बार होता है, तो डॉक्टर से परामर्श करना अत्यंत आवश्यक होता है। डॉक्टर आपको सही उपचार और दवाइयों की सलाह देंगे जो आपकी समस्या को हल करने में मदद

अपने शरीर की सुरक्षा को बढ़ाएं: श्वसन एलर्जी से बचने के लिए अपने शरीर की सुरक्षा को बढ़ाना बहुत महत्वपूर्ण है। इसके लिए, समय-समय पर अपने हाथों को साबुन और पानी से धोते रहें, अपने घर और काम स्थान को साफ रखें, व्यायाम और योग करें, और रोजाना कम से कम 7-8 घंटे की नींद लें।

श्वसन एलर्जी से बचाव के लिए टीकाकरण: श्वसन एलर्जी से बचाव के लिए टीकाकरण बहुत महत्वपूर्ण है। इससे शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले कुछ खतरनाक इन्फेक्शन से बचा जा सकता है। डॉक्टर से सलाह लेकर अपने बच्चों और खुद को रोगों से बचाने के लिए उपयुक्त टीकाकरण लगवाएं।

Leave a reply